Select Page

नई दिल्ली, [स्पेशल डेस्क]। हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव का नोटिफिकेशन दो दिन पहले 16 अक्टूबर को जारी हो गया। इसी के साथ प्रत्याशियों का नामांकन भी शुरू हुआ। नामांकन की अंतिम तारीख 23 अक्टूबर है और इस बीच 19 अक्टूबर को दिवाली की छुट्टी है, जबकि 22 अक्टूबर को रविवार है। इस तरह से नामांकन के लिए बुधवार 18, शुक्रवार 20, शनिवार 21 और सोमवार 23 तारीख ही बचे हैं। नामांकन के सिर्फ चार दिन बचे हैं और राज्य में सत्तारूढ़ कांग्रेस व मुख्य विपक्षी पार्टी भाजपा दोनों ही टिकटों की पहली में अब भी उलझी हुई हैं।

दोनों दलों से मिल रही अंदरूनी खबरों के मुताबिक अधिकतर प्रत्याशी तय होने का दावा तो किया जा रहा है, लेकिन अभी तक आधिकारिक सूची घोषित नहीं हो पाई है। टिकटों के घमासान के बीच भाजपा में कुछ स्थानों पर बगावत के स्वर भी उठने लगे हैं।

कांग्रेस में 20 सीटों पर फंसा पेंच

बताया जा रहा है कि सत्तारूढ़ कांग्रेस ने 68 में से करीब 48 सीटों पर प्रत्याशी तय कर लिए हैं। लेकिन 20 सीटों पर अब भी पेंच फंसा है और दिल्ली में बैठकों का दौर जारी है। मुख्यमंत्री वीरभद्र व अन्य नेता कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी व उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मिले हैं। राज्य चुनाव कमेटी की भी दूसरी बार बैठक हुई है। इसके बाद केंद्रीय समिति ने नए सिरे से पैनल में आए नामों की छंटनी की।

शिमला-कुल्लू और कांगड़ा में फंसा कांग्रेस का पेंच

राज्य की राजधानी शिमला में भी पार्टी एक नाम पर सहमति नहीं बना पाई है। कुल्लू से चार सीटों में से एक भी जगह टिकट फाइनल नहीं है। सबसे बड़े कांगड़ा जिले में 15 सीटों में से 11 पर सहमति है। चंबा में चार पुराने चेहरे हैं, जबकि एक नया चेहरा होगा। बिलासपुर में चारों सीटों पर पुराने महारथी उतारे जाएंगे। सिरमौर में नाहन में नया चेहरा होगा। रेणुका, पच्छाद, शिलाई में पुराने नेता ही चुनाव लड़ेंगे। सोलन में तीन जगहों पर कोई बदलाव नहीं होगा। ऊना में तीन में से दो टिकटों पर विवाद है। किन्नौर और लाहुल में कोई विवाद नहीं है। मंडी में अनिल शर्मा के भाजपा में छिटकने से कैबिनेट मंत्री कौल सिंह ठाकुर की बेटी चंपा ठाकुर प्रत्याशी होंगी। कौल सिंह खुद द्रंग से चुनाव लड़ेंगे।

घर-घर जाकर प्रत्याशियों को टिकट दे रही भाजपा

भाजपा राज्य में मुख्य विपक्षी पार्टी है और पार्टी को पूरी उम्मीद है कि इस पहाड़ी राज्य को भी वह कांग्रेस से छीन लेगी। लेकिन उसकी ओर से प्रत्याशियों की सूची जारी नहीं हुई है, पार्टी पदाधिकारी प्रत्याशियों के घर-घर गए और टिकट देकर आए। मंगलवार तक 58 सीटों के लिए भाजपा के टिकट बांटे जा चुके हैं। इसी कारण भाजपा उम्मीदवारों की ओर से नामांकन पत्र दाखिल करने का सिलसिला शुरू हो गया है।

Read More